लखनऊ में मारे गए सैफुल्लाह के पिता ने की न्यायिक जांच की मांग

0
2868
सैफुल्लाह

बुधवार को उत्तर प्रदेश एटीएस के साथ कथित मुठभेड़ में मारे गए सैफुल्लाह के पिता, जिन्होंने उसके शव को लेने से मना कर दिया था, उन्होंने आज इस एनकाउंटर की न्यायिक जांच की मांग की है।

सैफुल्लाह के पिता सरताज ने टाइम्स ऑफ़ इंडिया अखबार के साथ बातचीत में कहा कि उन्होंने मीडिया और एटीएस अधिकारीयों से मिली सूचना के आधार पर अपने बेटे का शव लेने से इनकार किया था। ‘लेकिन मैं जानना चाहता हूँ की हकीक़त में क्या हुआ और कैसे हुआ’, सैफुल्लाह के पिता ने कहा।

उन्होंने कहा कि वह किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचना चाहते लेकिन सच्चाई जानना उनके लिए बेहद ज़रूरी है।

सैफुल्लाह के पिता ने यह मांग रिहाई मंच के दौरे के बाद की है। रिहाई मंच काफी समय से फर्जी मुकदमों में फंसाए गए बेगुनाहों के हक की आवाज़ उठता आ रहा है।

‘मैं हर मीडिया चैनल से बात करते हुए अपनी इस मांग को उठा रहा था लेकिन किसी ने भी मेरी इस मांग को रिपोर्ट नहीं किया है’, सैफुल्लाह के पिता ने कहा। उन्होंने आगे कहा कि वह खुद अभी तक नहीं समझ पा रहे हैं कि सिर्फ दो महीने पहले घर से निकला उनका बेटा ऐसे मामलों में कैसे फँस सकता है।

सरताज ने कहा कि वह कानपुर के बाहरी इलाके में एक चमड़े के कारख़ाना में काम कर रहे थे, वहां पर कुछ हथियारबंद लोग आये जिन्होंने बताया कि वे एटीएस से हैं। ‘उन्होंने मुझे बताया कि सैफुल्लाह ने खुद को एक कमरे में बंद कर लिया है और पुलिस पर गोलाबारी कर रहा है।। यह सुन कर में सुन्न रह गया’, उन्होंने कहा। इसके बाद वह घर पहुंचे और एनकाउंटर से जुडी ख़बरों के लिए न्यूज़ चैनल खंगालने शुरू कर दिए।

‘इसके बाद समाचार पत्रों और चैनलों के पत्रकारों और कर्मचारियों ने हमारे घर आना शुरू कर दिया। उन्होंने मुझे बताया कि मेरा बेटा आतंक के मामलों से जुड़ा और एक मुठभेड़ में पुलिस पर फायरिंग कर रहा है। मैंने उनकी बातों पर विश्वास कर अपने बेटे के मर जाने पर उसका शव लेने से इनकार कर दिया’, सरताज ने बताया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here