पीएम मोदी के शमशान वाले बयान पर विपक्ष ने जताया कड़ा ऐतराज़ , इलेक्शन कमीशन से करेगा शिकायत

0
2782
शमशान

नई दिल्ली : नरेंद्र मोदी के यूपी की फतेहपुर रैली में शमशान और रमजान वाले बयान पर कांग्रेस और समाजवादी पार्टी ने कड़ा ऐतराज जताते हुए कहा है कि मोदी के खिलाफ इलेक्शन कमीशन से शिकायत करेंगे ।

मोदी ने रविवार को फतेहपुर की रैली में कहा था कि गांव में अगर कब्रिस्तान बनता है, तो शमशान भी बनना चाहिए, अगर रमजान में बिजली रहती है, तो दिवाली में भी बिजली आनी चाहिए।

सपा और कांग्रेस ने इस पर कड़ा ऐतराज़ जताते हुए कहा है कि कांग्रेस मोदी के खिलाफ इलेक्शन कमीशन से शिकायत करेगी। सपा का कहना है कि मतदान के दिन मोदी ने अपने भाषण में एक वर्ग विशेष का उल्लेख किया है। उसका आरोप है कि मोदी उत्तर प्रदेश में धर्म के आधार पर जनता को गुमराह करने की कोशिश कर रहे हैं।

कांग्रेसी नेता आनंद शर्मा ने कहा कि इस तरह के गलत और गैर-जिम्मेदारना बयान प्रधानमंत्री को नहीं देने चाहियें। उन्होंने कहा कि यूपी में तय हार को देखते पीएम बौखला गए हैं। वह इस चुनाव में धुव्रीकरण और सांप्रदायिकता को ला रहे हैं। उन्होंने कहा कि पीएम का ये बयान हाल में दिए गए इलेक्शन कमिशन के निर्देश का स्पष्ट उल्लंघन है। इलेक्शन कमिशन को इसका कड़ा नोटिस लेना चाहिए।

कांग्रेस नेता सलमान अनीस सोज ने भी ट्वीट कर पीएम के बयान की आलोचना की। सोज ने लिखा- “यह आदमी गांधी के भारत का प्रधानमंत्री कैसे बन गया? कब्रिस्तान और शमशान से पहले हमारे पास खेल मैदान होना चाहिए, जहां हिंदू, मुस्लिम और दूसरे धर्मों के बच्चे एक साथ खेल सकें।”

समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता जूही सिंह ने कहा कि पीएम ने फतेहपुर रैली में जिस तरह की भाषा का इस्तेमाल किया है, हम उसकी निंदा करते हैं।उन्होंने कहा कि पार्टी इसकी शिकायत इलेक्शन कमीशन से भी करेगी।

गौरतलब है कि पीएम मोदी ने फतेहपुर की रैली में अखिलेश सरकार पर आरोप लगाया कि प्रदेश की जनता से धार्मिक आधार पर भेदभाव करते हैं। उन्होंने कहा था कि गांव में अगर कब्रिस्तान बनता है, तो शमशान भी बनना चाहिए, अगर रमजान में बिजली रहती है, तो दिवाली में भी बिजली आनी चाहिए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here