IND & USA -अफगान सरजमीं का इस्तेमाल फिर कभी किसी देश के खिलाफ न हो – मोदी जी

0
70
जो बाइडेन

व्हाइट हाउस में प्रधानमंत्री मोदी और राष्ट्रपति जो बाइडेन की बैठक के बाद भारत और अमेरिका ने तालिबान को कड़ा संदेश भेजा है। भारत और अमेरिका ने संयुक्त बयान में तालिबान से कहा है कि अब वह आगे से किसी को भी अफगान की धरती का इस्तेमाल किसी अन्य देश पर हमले के लिए ना होने दे। भारत और अमेरिका ने अफगानिस्तान के नये शासकों से यह सुनिश्चित करने के लिए भी कहा है कि युद्धग्रस्त देश की धरती का किसी भी अन्य देश को धमकाने या हमला करने या आतंकवादियों को पनाह या प्रशिक्षण देने के लिए फिर से इस्तेमाल न हो सके।

प्रधानमंत्री मोदी ने महिलाओं, बच्चों एवं अल्पसंख्यक समूहों मानवाधिकारों का सम्मान किया

दोनों देशों ने तालिबान से उसके द्वारा जताई गई प्रतिबद्धताओं को पूर करने और महिलाओं, बच्चों एवं अल्पसंख्यक समूहों सहित सभी अफगानों के मानवाधिकारों का सम्मान करने का आह्वान किया है।

राष्ट्रपति बाइडन और प्रधानमंत्री मोदी

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच शुक्रवार को यहां पहली आमने-सामने की द्विपक्षीय बैठक के बाद भारतीय-अमेरिकी नेताओं के संयुक्त बयान में दोनों नेताओं ने अफगानिस्तान में आतंकवाद से निपटने के महत्व पर विशेष जोर दिया।

पंजाब के नए सरदार चरणजीत सिंह चन्नी बने ,शपथ के बाद पहुंचे राहुल गांधी

अफगानिस्तान की सरजमीं का किसी अन्य देश को धमकाने

प्रधानमंत्री मोदी ने तालिबान का प्रस्ताव

बयान में कहा गया कि राष्ट्रपति बाइडन और प्रधानमंत्री मोदी ने तालिबान का प्रस्ताव की इन बातों और तमाम दूसरी प्रतिबद्धताओं को भी पूरा करने के लिए आह्वान किया है जिसमें अफगानों और सभी विदेशी नागरिकों का अफगानिस्तान से सुरक्षित, एवं व्यवस्थित प्रस्थान और महिलाओं, बच्चों और अल्पसंख्यक समूहों के सदस्यों सहित सभी अफगानों के मानवाधिकारों का सम्मान करना शामिल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here