बंगाल में भाजपा की महिला नेता पर बाल तस्करी का मुकदमा दर्ज

0
2864
तस्वीर: livelaw.in

कोलकाता: पश्चिम बंगाल पुलिस ने एक भाजपा नेता पर कथित तौर पर गोद लेने के बहाने शिशुओं बेचने से जुड़े एक गिरोह के साथ शामिल होने का आरोप लगाया है। बाल तस्करी के इस मामले में गैर सरकारी संगठन मुख्य रूप से शामिल है।

जूही चौधरी, भाजपा महिला मोर्चा (महिला शाखा) की नेता को सीआईडी ने एनजीओ बिमला शिशु गृह के दो अधिकारियों के साथ एफआईआर में नामित किया है। वे जलपाईगुड़ी से हैं। इस मामले में नामजद एनजीओ की इसके अध्यक्ष चंदना चक्रवर्ती और मुख्य गोद लेने वाली अधिकारी सोनाली मंडल को शनिवार को उत्तरी बंगाल से गिरफ्तार कर लिया गया है।

बच्चों का अवैध व्यापार करने वाला यह गिरोह कथित तौर पर भारत के विभिन्न भागों और अमेरिका और फ्रांस जैसे देशों में दो दर्जन से अधिक बच्चों को बेच चुका है, सीआईडी ​​सूत्रों ने कहा।

अंग्रेजी अख़बार हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक जब जूही चौधरी से उसकी प्रतिक्रिया मांगी गई थी,  तब उसने कहा कि चंदना चक्रवर्ती राज्य सरकार के खिलाफ शिकायतों के साथ एक बार उनके पास आयी थी और कहा था कि वह अदालत में जाने पर विचार कर रही है। “मैंने उसे आवश्यक मंचों के पास जाने की सलाह दी थी। सिर्फ इतनी ही मुलाकात थी, “उसने कहा।

सीआईडी ​​के अधिकारियों ने हालांकि कहा कि भाजपा नेता चक्रवर्ती को केंद्रीय सरकार के अधिकारियों से मिलवाने के लिए दिल्ली ले गयी थी। उन दोनों की कई बार मुलाकात हुयी और चौधरी एनजीओ को चलाने में मदद कर रही थी।

चौधरी मायानगरी क्षेत्र की निवासी हैं जहां चक्रवर्ती एक स्कूल में शिक्षिका के रूप में काम करने के लिए जाती थी।

“हमने गैर सरकारी संगठन के दो अधिकारियों को गिरफ्तार किया है और कई अन्य लोगों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है। हम भी विभिन्न स्थानों पर छापे भी मार रहे हैं, “एक वरिष्ठ सीआईडी ​​अधिकारी ने बताया।

आरोपीयों के खिलाफ आईपीसी और किशोर न्याय अधिनियम के तहत बच्चों के अवैध व्यापार, साजिश और दूसरी अलग-अलग धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है।

अधिकारियों का कहना है कि उन्हें जानकारी मिली थी कि यह एनजीओ बच्चों की तस्करी में लगा हुआ है और पिछले कुछ महीनों से इस पर नज़र रखी जा रही थी।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here