नजीब की सूचना देने वाले को सीबीआई देगी दस लाख रूपये

0
3283
नजीब

सीबीआई ने जेएनयू से लापता मुस्लिम छात्र नजीब अहमद के बारे में कोई भी जानकारी देने वाले शख्स को दस लाख रूपये का इनाम देने की घोषणा की है। दिल्ली पुलिस के नजीब का पता लगाने में नाकाम रहने के बाद हाई कोर्ट ने नजीब अहमद का केस सीबीआई को सौंप दिया था। सीबीआई 2 जून को एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर चुकी है।

जेएनयू में एम एस सी बायोटेक्नोलॉजी प्रथम वर्ष का छात्र नजीब अहमद छुट्टियों के बाद 13 अक्टूबर को यूनिवर्सिटी पहुंचा था। यूनिवर्सिटी पहुँचने के सिर्फ एक दिन बाद ही नजीब का एबीवीपी के कार्यकर्ताओं के साथ झगड़ा हो गया था। इस झगड़े के बाद अगले दिन सुबह ही नजीब लापता हो गया था और तब से उसका कोई भी सुराग नहीं मिल पाया है।

यह भी पढ़ें: मोब लिंचिंग के पीड़ितों को न्याय दिलाने के लिए शुरू की गयी एक पहल

नजीब के लापता होने की सूचना दिल्ली पुलिस को दी गयी थी। लेकिन दिल्ली पुलिस ने इस मामले में जांच को लेकर सवालों के घेरे में खड़ी पायी गयी। पुलिस की कार्यवाई से असंतुष्ट नजीब अहमद की माँ फातिमा नफीस ने दिल्ली हाई कोर्ट में गुहार लगाई थी कि यह केस दिल्ली पुलिस से लेकर सीबीआई को सौंप दिया जाए।

यह भी पढ़ें: बीफ बेन के खिलाफ हाईकोर्ट में याचिका दायर करने पर गौरव जैन को गौ रक्षकों की धमकी

फातिमा नफीस की याचिका पर सुनवाई करते हुए दिल्ली हाई कोर्ट के जस्टिस जी एस सिस्तानी और जस्टिस रेखा पल्ली की पीठ ने यह केस सीबीआई को सौंप दिया था और डीआईजी की रैंक वाले अफसर की निगरानी में जांच का आदेश पारित किया था। इस मामले में अगली सुनवाई 17 जुलाई को होनी है।

हाई कोर्ट के न्यायाधीशों ने सुनवाई के दौरान दिल्ली पुलिस की कार्यवाई की कड़ी आलोचना की थी और कहा था कि कोर्ट इस मामले में खुद को ठगा हुआ महसूस कर रहा है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here