मणिपुर में पहली बार कोई मुस्लिम महिला लड़ रही है चुनाव

0
3141
मुस्लिम महिला
इरोम शर्मीला और नाजिमा बीबी, पोपुलर फ्रंट ऑफ़ इंडिया, मणिपुर के पदाधिकारियों के साथ एक बातचीत के दौरान

इम्फाल: मणिपुर चुनाव में इन विधानसभा चुनावों में पहली बार कोई मुस्लिम महिला चुनाव लड़ रही है। मणिपुर की निवासी नाजिमा बीबी इरोम शर्मीला की प्रजा पार्टी के टिकट पर वाब्गाई विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ रही हैं।

हालाँकि नाजिमा बीबी के चुनाव लड़ने के फैसले के खिलाफ कुछ लोगों ने फतवा जारी किया है। लेकिन उनका कहना है कि वो ऐसे फतवों के आगे नहीं झुकने वाली हैं। उन्होंने कहा कि वह चुनाव लड़ेंगी और घरेलु हिंसा व महिला उत्थान के अपने कार्यों को ज़ारी रखेगी।

‘मुझे अपनी जान की परवाह नहीं है, लेकिन जब तक में जिंदा हूँ मैं घरेलु हिंसा और समाज में मुस्लिम महिलाओं के उत्थान और उनके हितों की रक्षा के लिए लड़ती रहूंगी। मेरा जीवन बचपन से ही मुश्किलों से भरा रहा है और अब ऐसी धमकियों ने मुझे डराना बंद कर दिया है’, नाजिमा बीबी ने मीडिया से बात करते हुए कहा।

नाजिमा बीबी ने बताया कि वो इरोम चानू शर्मीला के अफस्पा के विरोध में 16 साल लम्बे उपवास से बेहद प्रभावित थी। जब इरोम ने अपना राजनीतिक संगठन बनाने की घोषणा की तब वह इरोम के संगठन से जुड़ गयी।

‘अगर मैं विधायक बनती हूँ तब मैं शिक्षा, महिलाओं के मुद्दों, अफस्पा के खिलाफ, और लघु उद्योगों के ज़रिये लोगों को रोज़गार हासिल कराने के लिए काम करुँगी। मैं उस समाज की मदद करना चाहती हूँ जिसमें मैं रहती हूँ’, नाजिमा बीबी ने कहा।

नाजिमा बीबी के अलावा उनके विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस और भाजपा के प्रत्याशियों समेत पांच अन्य प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं। नाजिमा बीबी हर रोज़ अपनी साइकिल से निकलती हैं और जनसंपर्क कर अपना चुनावी प्रचार करती हैं।

लेकिन राजनीति में शामिल होने का एक मुस्लिम महिला का फैसला धार्मिक अतिवादियों के गले नहीं उतर रहा है। उन्होंने नाजिमा के गाँव में उनके सामाजिक बहिष्कार का ऐलान किया है और साथ ही यह भी कहा है कि नाजिमा को मरणोपरांत कब्र की जगह नहीं दी जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here