असम: भाजपा नेता समेत तीन लोगों को आतंकवाद के लिए वित्तीय मदद करने के आरोप में उम्रकैद

0
2958
विस्फोट

गुवाहाटी: मंगलवार को एनआईए की एक विशेष अदालत ने असम में तीन लोगों को आतंकवाद से जुड़े आरोपों में उम्रकैद की सज़ा सुनाई है। इन आरोपियों में एक भाजपा नेता और सरकारी अधिकारी शामिल हैं। आतंकवाद से जुड़े दो मामलों में इन लोगों समेत कुल पंद्रह लोगों को सज़ा सुनाई गयी है।

भाजपा नेता पर सरकारी अधिकारीयों के साथ मिल कर सरकारी धन से एक आतंकवादी संगठन की वित्तीय मदद का आरोपी पाया गया है। इन दो मामलों में से पहला मामला एनआईए की विशेष अदालत को इसके गठन के बाद 2009 में सौंपा गया था।

अदालत ने जिन लोगों को उम्रकैद की सज़ा सुनाई है उनमें एक भाजपा नेता निरंजन होजई शामिल है। निरंजन होजई आतंकवादी संगठन डीएचडी (जे) का एक पूर्व आत्मनिर्भर कमांडर-इन-चीफ है, जिसने बाद में आत्मसमर्पण कर दिया था। वह पिछले साल बीजेपी में शामिल हुआ था और एनसी हिल्स स्वायत्त परिषद के लिए चुना गया था।

इसके अलावा  गहलोल गारलोसा, डीएचडी (जे) का पूर्व अध्यक्ष और वर्तमान में हिल्स काउंसिल के एक स्वतंत्र सदस्य; और काउंसिल के पूर्व मुख्य कार्यकारी सदस्य मोहेत होजई को भी उम्रकैद की सज़ा सुनाई गयी है।

इन मामलों में आरोपी पांच अन्य व्यक्तियों को भी अदालत ने 10 से 12 तक की अलग अलग सज़ा सुनाई है। जबकि सात अन्य व्यक्तियों को 5 से 8 वर्ष की सज़ा सुनाई गयी है।

इस सम्बन्ध में इंडियन एक्सप्रेस अखबार की एक खबर के मुताबिक, असम भाजपा प्रवक्ता बीजन महाजन ने कहा है कि पार्टी निरंजन होजई के समर्थन में गुवाहाटी उच्च न्यायालय जाने के सम्बन्ध में विचार कर रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here