अवैध बूचड़खाने बंद कराने के नाम पर छोटे- छोटे दुकानदारों की रोजी- रोटी छीन रही है सरकार

0
2833
बूचड़खाने

योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में गठित नयी सरकार के अवैध बूचड़खाने बंद करने और एंटी रोमियो स्क्वाड बनाने के फैसले से जहाँ कुछ लोग खुश हैं वहीँ ज़्यादातर नागरिक अधिकार संगठन इन फैसलों को मानवाधिकारों के विरुद्ध देख रहे हैं।

नागरिक अधिकार संगठन रिहाई मंच ने आरोप लगाया है कि उत्तर प्रदेश में एंटी रोमियो स्क्वाड का गठन करके सरकार न सिर्फ मोरल पुलिसिंग कर रही है बल्कि इसके जरिये सामाजिक बंधनों को तोड़कर प्रेम करने वालों को निशाना बनाकर फिर से सामंतवाद को बढावा दे रही है। रिहाई मंच ने अमरोहा में गाय चोरी केआरोप में पिट –पिट कर मारे गए नासिर के हत्यारों को तत्काल गिरफ्तार करने की मांग की है। मंच ने कहा कि सरकार अवैध बूचड़खाने बंद कराने के नाम पर दहशत फैला कर छोटे- छोटे गरीब दुकानदारों की रोजी-रोटी छीनने का काम कर रही है।

रिहाई मंच लखनऊ प्रवक्ता अनिल यादव ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी ने कहा था की मैं उस विवाह में जाना पसंद करूँगा जो अंतरजातीय हो। देश की तमाम सरकारें जब अंतरजातीय विवाहों को प्रोत्साहित कर रही हैं तो वहीँ उत्तर प्रदेश की सरकार एंटी रोमियो स्क्वाड के नाम पर मोरल पुलिसिंग करके सामाजिक बंधनों को तोड़कर प्रेम करने वालों को निशाना बनाकर फिर से सामंतवाद को बढावा दे रही है। उन्होंने बताया की जिस तरह से पुलिस मनमाने ढंग से सरेआम युवक-युवतियों के साथ अभ्रदतता कर रहे हैं उससे साफ़ हो गया है की मनुवादी नही चाहते हैं की समाज से जातिवाद ख़त्म हो। उत्तर प्रदेश सरकार छेडखानी के मसले पर अगर इतना ही गंभीर है तो पहले उसे गुरमेहर कौर जैसी लड़कियों को बालात्कार की धमकी देने वाले कैम्पस के उन गुंडों को पकड़ना चाहिए जो उत्तर प्रदेश के हर कैम्पस में अराजकता फैला रहे है और सभी जानते हैं की इन अराजक तत्वों का सम्बन्ध किस पार्टी से है।

रिहाई मंच लखनऊ प्रवक्ता ने मांग की कि अमरोहा के नासिर को गाय चोरी के नाम पर पीट –पीटकर मारने वालों को सरकार तत्काल गिरफ्तार करे। उन्होंने कहा की अवैध स्लाटर हाउस बंद कराने के नाम पर उत्तर प्रदेश की सरकार साम्प्रदायिक जेहनियत के तहत छोटे- छोटे दुकानदारों की रोजी रोटी छिनने का काम कर रही है।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here